badge

Friday, September 25, 2015

दर्द-ए-दिल




Img courtesy here

वो दर्द देते रहे 
                  और माफ़ी मांगते रहे । 

हमारा भी आलम कुछ ऐसा रहा 

की हम माफ़ करते रहे        
                  और खुदको मनाते रहे। .





* * *